चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, 10 फरवरी से सात मार्च तक एग्जिट पोल लगी रोक

Politics
Share with your friends

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर निवार्चन आयोग ने चुनावी सर्वे पर रोक लगा दी है। यह रोक प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया दोनों पर लागू होगी। 10 फरवरी सुबह वोटिंग टाइम सात बजे से लेकर सात मार्च को 6.30 बजे तक रोक रहेगी।

निर्वाचन आयोग एग्जिट पोल को लेकर बेहद सख्त है। इस निर्देश का उल्लंघन करने पर कम से कम दो वर्ष का कारावास और जुर्माने का प्रावधान भी किया गया है। चुनाव आयोग के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश जारी कर दिया है।

निर्वाचन आयोग एगिजट पोल को लेकर बेहद सख्त हो गया है। आयोग ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि सरकार बनाने के साथ समीकरण बिगाडऩे वाले सभी आंकड़े अब अपराध में आएंगे। इसी कारण दस फरवरी के साथ मार्च तक एग्जिट पोल दिखाने पर रोक लगा दी गई है। इसके उल्लंघन पर दो वर्ष की जेल के साथ जुर्माना की सजा है।

निर्वाचन आयोग ने एक अधिसूचना जारी की। विधानसभा चुनाव के दौरान मीडिया के किसी तरह के एग्जिट पोल करने या उसे प्रकाशित करने पर रोक लगाई गई है। आयोग ने कहा कि रोक पहले चरण के मतदान के दिन सुबह सात बजे से अंतिम चरण के मतदान के दिन शाम 6.30 बजे लागू रहे


Share with your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *